दूरदर्शिता/लक्ष्य

 

गवर्निंग बोर्ड की पहली बैठक में मंजूर किये गये औरगवर्निंग बोर्ड की दूसरी बैठक में संशोधित किये गये आई.आर.सी.आई की दूरदर्शिता और लक्षय इस प्रकार हैं:

1. दूरदर्शिता

(1) समझौते के अनुच्छेद 4 पैरा 1 के आधार पर एशिया-प्रशांत क्षेत्र में 2003 कन्वेंशन को बढ़ावा देना।

(2) समझौते के अनुच्छेद 4 पैरा 2 के में उल्लिखित अधिकार के माध्यम से यूनेस्को और जापान के बीच समझौते के अनुच्छेद 4 पैरा 1 में निर्धारित उद्देश्यों को पाना।

(3) समझौते के अनुच्छेद 4 पैरा 2 के में उल्लिखित अधिकारों के माध्यम से यूनेस्को की मध्यम अवधि की रणनीति 37 सी/4 और चार साल का कार्यक्रम और बजट 37 सी/5 की प्राप्ति में योगदान पाना। 

 

2. लक्ष्य

(1) नुसंधान को एशिया-प्रशांत क्षेत्र में मौजूद लुप्तप्राय अमूर्त सांस्कृतिक विरासत तत्वों की सुरक्षा के तरीके और प्रथाओं में समन्वय और उत्तेजित करने के लिए, जापान में और अन्य जगहों में विश्वविद्यालयों, अनुसंधान संस्थानों, समुदाय के प्रतिनिधियों और अन्य सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों कर साथ सहयोग करना।

(2) एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों को अनुसंधान के मामले में सहायता करने के लिए, 2003 कन्वेंशन के 11, 12, 13 और 14 में निर्दिष्ट इस तरह के उपायों को लागू करने के लिए, विकासशील देशों के लिए विशेष ध्यान देते हुए;

(3) अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा के लिए एक उपयोगी घटक के रूप में और संबंधित प्रथाओं और तरीकों के लिए अनुसंधान की भूमिका पर ध्यान केंद्रित करने के लिए, एशिया-प्रशांत क्षेत्र के विशेषज्ञों, समुदाय के प्रतिनिधियों और प्रशासकों को शामिलकरते हुए कार्यशालाओं और सेमिनारों की व्यवस्था करना;

(4)एशिया-प्रशांतक्षेत्र में युवाशोधकर्ताओं को अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा से संबंधित अनुसंधान गतिविधियों में लगाने और सहायता करने के लिए प्रोत्साहित करना;

(5) एशिया-प्रशांत क्षेत्र में और परे अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की रक्षा के क्षेत्र में सक्रिय अन्य श्रेणी 2 केन्द्रों और संस्थानों के साथ सहयोग करना तथा

(6) अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की रक्षा के क्षेत्र में सक्रिय अन्य सभी इच्छुक संस्थानों के बीच सहयोग को आरंभ करने के लिए, एशिया-प्रशांत क्षेत्र में विकासशील देशों में तकनीकी सहायता को बढ़ावा देते देना।